Posted in Uncategorized

डॉ. कलाम के लिए

ऐ कलम तू उठ न कलाम लिखना है..kalam
हिन्द के लिए नया विज्ञान लिखना है..
लिखना है सम्मान बहुत,
अनगिनत अरमान लिखना है..

ऐ कलम उठ न कलाम लिखना है..
हिन्द के सपूत का,
सुनहरे अक्षरों में नाम लिखना है..
बच्चों के प्रिये एक इंसान लिखना है..

ऐ कलम तू उठ न कलाम लिखना है..
अंतरिक्ष से परे पहचान लिखना है..
कलम और शिक्षा का पैगाम लिखना है..
ऐ कलम तू उठ न कलाम लिखना है..||

भारत रत्न कलाम सर को सादर श्रृद्धासुमन ‪#‎TributeToDrKalam‬

Advertisements
Posted in Uncategorized

ओछी राजनीती

राजनीती अपने चरम पे,
सब टिके हैं झूठे धर्म पे।

कहीं किसी के घर,
ना अनाज है ना रोटी है,
जिन्दा रह कर भी जिंदगी,
आज हर पल बस रोती है,
राजनीती बड़ी ही ओछी है ,Indian Politics

धर्मों के बटवारे में,
प्यार के निपटारे में ,
हर गली हर चौराहे पे,
सब इसके ही गोटी है,
राजनीती बड़ी ही ओछी है ,

कहीं आवरू भी अपनी शर्मिंदगी पे हर पल रोती है,
क्या आसमां क्या जमीं, अब तो फसल भी इन्हीं की होती है,

इन सब को तो छोड़ भी दें,
अब तो ज़िन्दगी भी,
राजनीती से छोटी है,
सच में ,
राजनीती बड़ी ही ओछी है||