Tag Archives: Love

तरसे है दिल

ओ पिया सुन तो ले.. तड़पे ये दिल,
ओ सनम प्यार तू देख,
मेरा ऐतबार तू देख..
ओ पिया सुन तो ले.. तड़पे ये दिल,
है मेरे दिल ने कहा,
हर कहीं इतना ढूंढा,
जाने क्या हुयी है खता,
तरसे है दिल।
ओ पिया सुन तो ले.. तड़पे ये दिल।।
क्यों नहीं मुझपे यक़ीन,
तुझको ऐतबार सनम
कैसे बतलाऊं तुझे,
है कितना तुझसे प्यार सनम,
ओ पिया सुन तो ले.. तड़पे ये दिल।
ओ पिया सुन तो ले.. तरसे ये दिल।।

Advertisements

पिया दिल..

हर आहट में,

हर धड़कन में,

हर सांस में,floral-heart-art

हर उपवन में,

उन बातों में,

उन रातों में,

जीवन के हर उस किस्से में,

पल पल के हर उस हिस्से में..

जो कभी कुछ कहीं भूलता था..

पिया दिल तुझे ढूंढता था।

हर छोटी छोटी भूलों में,

सावन में हर उन फूलों में,

उन उलझी सुलझी राहों में,

हर धुन में हर चौराहों पे,

कहीं बस तेरे एक खिलखिलाहट में,

तेरे प्यार की छोटी आहट में..

जो कभी कुछ भूलता था..

पिया दिल तुझे ढूंढता था।। © ☼

Thanks My Love for Be There .

पिया आने को है

ओ रैना संग चल, ओ रैना मंद चल…
पिया मोरा…
पिया मोरा आने को है…
हर एक पल, ओ रैना संग चल,
मोरी बात सुन, जज्बात सुन,
हर पल के तू  हालात सुन,
रैना सुन तो ले….
ओ रैना संग चल, ओ रैना मंद चल…
पिया मोरा..
पिया मोरा आने को है..
कैसे उन्हें धरुं कैसे बाहों में भरूं..
तड़पे ये मन, दिल की छुवन,
नैना नीर भरूँ, मैं तोसे का कहूँ,
रैना संग चल, ओ रैना मंद चल…
पिया मोरा…
पिया मोरा आने को है…
वो अजीब लोग वो सजीव लोग…
कहीं से कहीं,
कही अनकही,
पिया मोरा…
पिया मोरा आने को है…
बौराई सी उनकी याद में,
तड़पूँ अब दिन रात मैं,
रैना दूर जा, तू रैना अब ना आ,
ओ रैना सुन तो ले, ओ रैना थम तो ले…
पिया मोरा…
पिया मोरा आने को है…
© ☼ अपने जन्मदिवस ३ दिसंबर पर

तू कौन है

क्यूँ मुझे बनाने चला तू,
क्यूँ मुझे सजाने चला तू,
क्यूँ मेरी हंसी पर सजाने लगा तू जिंदगी अपनी,
क्यूँ मेरे दूर जाने पर रुक सी जाती है धड़कन तेरी ?
तू कौन है,
तू अनजान था अनजान ही अच्छा था,
एक मजाक था या हकीकत पता नहीं मुझे,
पर एक मजाक ही अच्छा था ….
तू कौन है ……?

क्यूं तू छा जाता है कभी एक पल में,
क्यों तू भा जाता है दूजे ही पल में ,
तू अनजान था, अनजान ही अच्छा था,
एक मजाक था या हकीकत पता नहीं मुझे,
पर एक मजाक ही अच्छा था ….

हर बात में क्यू सबसे पहले तेरा नाम आता है ,
क्यूँ बिन बताये ही तू हरदम मेरे काम आता है ,
ऐसा भी नहीं की मैं इकरार नहीं करती लेकिन ये भी सच है,
कि मैं तुझसे प्यार नहीं करती …..
तू अनजान था, अनजान ही अच्छा था,
एक मजाक था या हकीकत पता नहीं मुझे,
पर एक मजाक ही अच्छा था ….

तेरा मेरी जिंदगी के हर लम्हे में समाना नहीं पसंद,
तेरा मेरी जिंदगी के हर लम्हे से अलग हो जाना भी नहीं पसंद,
तेरा हर सपना मेरा अपना लगता है ,
लेकिन तेरे संग जीना भी एक सपना लगता है
ऐसा नहीं है की कोई और है मेरी जिंदगी में …
तेरी जगह कोई ले नहीं सकता
जानती हूँ ज़िन्दगी तुझसे अच्छी कोई दे नहीं सकता
हमारे इस रिश्ते का क्या नाम है ..
दोस्त प्यार या ये इश्क बेजुबान है ?
पता नहीं शायद इसका क्या अंजाम है,
तू कौन है?
तू अनजान था, अनजान ही अच्छा था,
एक मजाक था या हकीकत पता नहीं मुझे,
पर एक मजाक ही अच्छा था ….

तुझे अपनी बाहों में लपेटना चाहती हूँ,
तुझे अपनी सांसों में समेटना चाहती हूँ
तुझ संग दिल लगाना नहीं चाहती ,
तुझ संग प्रीत बसाना चाहती हूँ ,
तू टूट ना जाए मेरे बिन,
इसलिए कुछ बताना नहीं चाहती
कुछ कह नहीं पाती,
लेकिन अपने दिल ही दिल में बस इकरार करती हूँ
बस खुद से ही बार – बार कहती हूँ ….
हाँ…. हाँ मैं तुझसे प्यार करती हूँ ….

समेटूं अपनी बाहों में,
सदा तुझको हमेशा ही,
इश्क के उस चाँद से हर पल,
यही फ़रियाद करती हूँ,
तुझे खोने से डरती हूँ
तभी हर बार कहती हूँ
मैं तुझसे प्यार नहीं करती
मगर फिर भी मैं पागल सी लड़की ,
तेरा इंतज़ार करती हूँ,
और बार बार कहती हूँ,
तू कौन है,
तू अनजान था, अनजान ही अच्छा था,
एक मजाक था या हकीकत पता नहीं मुझे,
पर एक मजाक ही अच्छा था ……..

पिया के पास

☼ पिया तोरे बिना जिया जाये ना,
जलु तेरे प्यार में,
करूं इंतज़ार तेरा,
किसी से कहा जाए न,
पिया तोरे बिना जिया जाये ना,
ढूंढें मेरी प्रीत रे,
तू है कहाँ मीत रे,
आँसूं बने गीत रे,
आँहे संगीत रे,
किसी से कहा जाए ना ,
पिया तोरे बिना जिया जाये ना,
याद तेरी हर पल तड़पाय,
सारी रैना नींद ना आये ,
दो नैनों के दीप जलाए ,
पगली तेरी याद दिलाये,
पिया तेरी याद दिलाये ,
जलु तेरे प्यार में,
तेरे इंतज़ार में ,
किसी से कहा जाए न,
पिया तोरे बिना जिया जाये ना ….. © ☼